गुरुवार, 23 दिसंबर 2010

बीरगांव चुनाव में छलका उत्साह

रायपुर। बीरगांव नगर पालिका चुनाव में 35 वार्ड पार्षद के 166 और अध्यक्ष के पांच प्रत्याशियों की किस्मत मतपेटियों में बंद हो गई। मंगलवार को सभी 73 मतदान केंद्रों में कुछेक विरोध को छोड़कर चुनाव शांतिपूर्वक संपन्न हो गए। शांतिपूर्ण मतदान के लिए पुलिस की तगड़ी व्यवस्था की गई थी। सुबह 8 बजे मतदान शुरू होते ही मतदाताओं की लंबी लाइन लग गई। दोपहर 12 बजे तक 27 फीसदी से ज्यादा मतदान हो गया।

कई मतदान केंद्रों में धीमे मतदान की वजह से लोगों को घंटों इंतजार करना पड़ा। इस बात पर प्रत्याशियों और उनके समर्थकों ने शोर भी मचाया। देर शाम तक मिली जानकारी के अनुसार नगर पालिका में 58 फीसदी लोगों ने अपने वोट का उपयोग किया। बीरगांव नगर पालिका के हर क्षेत्र में उत्साह का माहौल दिखाई दिया। लोग टोलियों में वोट देने के लिए घरों से निकले। मतदाताओं की सुविधा के लिए प्रत्याशियों की ओर से मतदान केंद्रों के बाहर पंडाल लगाए गए थे। यहां मतदाता पर्ची ढूंढने का काम अंतिम समय तक चलता रहा।
मतपेटियां पहुंचीं स्ट्रांग रूम : शाम 5 बजे मतदान खत्म होने के बाद मतपेटियों को सील किया गया। पीठासीन अधिकारियों ने सभी मतपेटियों को आडवाणी आर्लिकान स्कूल बीरगांव में बने स्ट्रांग रूम में पहुंचाया। स्कूल के तीन कमरों को विशेष पुलिस सुरक्षा व्यवस्था में स्ट्रांग रूम बनाया गया है। यहां चौबीसों घंटों पुलिस की सुरक्षा रहेगी।
फर्जी मतदान को लेकर हंगामा : आडवाणी आर्लिंकान स्कूल के मतदान केंद्र क्रमांक 47 में निर्दलीय प्रत्याशी सत्यप्रकाश सिन्हा के समर्थकों ने फर्जी मतदान का आरोप लगाया। इस बात को लेकर कुछ देर तक अन्य प्रत्याशियों के साथ उनकी बहस भी हुई। समर्थकों का आरोप था कि कोई भी परिचय पत्र नहीं दिखाने के बावजूद लोगों को वोट डालने दिया जा रहा है। टीआई शमशेर खान को मामले में हस्तक्षेप करना पड़ा।
कोई और वोट डाल गया
मतदान केंद्र 46 की वोटर लिस्ट में 709 नंबर में नीतू राजपूत का नाम था। वो जब वोट डालने पहुंचीं तो अधिकारियों ने बताया कि उनका वोट हो चुका है। उन्होंने बताया कि उन्होंने अभी तक अपना वोट नहीं डाला है। इस पर देर तक उनके घरवालों की अधिकारियों के साथ बहस भी होती रही।
धीमे मतदान से लोग नाराज : आडवाणी स्कूल में बने मतदान केंद्र 44, 45 और प्राथमिक स्कूल रावांभाटा में बने मतदान केंद्रों में धीमे मतदान की वजह से लोग नाराज दिखाई दिए। धीमे मतदान की वजह से यह लोगों की लंबी लाइन लगी रही। कई मतदाता इन केंद्रों से बिना वोट डाले भी लौटे।
आउटर में सुरक्षा व्यवस्था कम
मतदान केंद्रों में पुलिस की सबसे तगड़ी व्यवस्था आडवाणी स्कूल के मतदान केंद्रों में की गई। यहां चार मे से तीन अतिसंवेदनशील मतदान केंद्र बनाए गए थे। एसपी दीपांशु काबरा भी निरीक्षण के लिए इसी मतदान केंद्र पहुंचे। आउटर के मतदान केंद्रों में कम पुलिस सुरक्षा की वजह से कई जगह अव्यवस्था का आलम रहा। कई मतदान केंद्रों में प्रत्याशियों के समर्थक मतदान केंद्रों में प्रचार करते भी नजर आए।
24 को मतगणना
बीरगांव चुनाव की मतगणना 24 दिसंबर को सुबह 8 बजे से आडवाणी आर्लिकान स्कूल में होगी। इसके लिए सभी तरह की व्यवस्था कर ली गई है। अलग-अलग टेबलों में 35 वार्डो के लिए डाले गए वोटों की गिनती होगी। इसके साथ ही अध्यक्ष पद के लिए डाले गए वोटों की भी गिनती होगी। मतपत्रों का उपयोग होने की वजह से नतीजे शाम से ही आने शुरू होंगे।

1 टिप्पणी: