सोमवार, 11 मई 2015

विचार

  1. जब हम किसी को ख़ुशी नही दे सकते तो उन्हें दुख देने का भी कोई हक़ नही है ..!!
  2.  हमारे माता पिता द्वारा ये हमारा जीवन उधार में मिली है ..इस कर्ज को केवल उन्हें खुशियों देकर ही चुकाया जा सकता है ..!!
  3. प्यार जताने की नही प्यार को महसूस करना जरूरी होता है ..!
  4.  दर्द की सबसे अच्छी दवा मुस्कान (मुस्कराहट ) होती है !
  5. इन्सान कभी मुसीबत से नही हारता लेकिन जब उसके अपने इस कठिन समय में इक-इक कर साथ छोड़ते जाते है तो वह कमजोर पड़ने लगता है और अन्त में उसकी हार निश्चित हो जाती है ..! 
  6.  तस्वीर में कोई खराबी नही होती है देखने वालों के मन में खराबी होती है ....!
  7.  दोस्ती हमेशा दिल से करें, दिमाग से नही क्यूंकि जो दिमाग से दोस्ती की जाती है उसमे स्वार्थ छिपा होता है ..!!
  8. समय गति के साथ साथ हम अपनी जिन्दगी में कुछ ना कुछ तजुर्बा हासिल करते रहते है ..तजुर्बा पाने का कोई शार्ट कट साधन नही है ..!!
  9. रिश्तो में विश्वास भले ही कम हो जायें लेकिन अधिकार तो हमेशा बने रहते है ..!!
  10. जब आप किसी का दिल से सम्मान करते है तो बदले में उतने ही प्यार से सम्मान आपको भी वापिस मिल जाता है..!!
  11. आप अपने किसी खास विश्वासी ब्यक्ति पर भी हद से ज्यादा विश्वास न करे, क्योंकि विश्वास में भी विष होता है, जिसका विष साँप के विष से अधिक जहरीला होता है ...!!
  12. दुःख और परिश्रम मानव जीवन के लिए अत्यंत आवश्यक है क्यूकि दुःख के बिना हृदय निर्मल नहीं होता और परिश्रम के बिना मनुष्य का विकास नहीं होता..!!
  13.  मित्रता हमेशा एक अच्छी जिम्मेदारी हो सकती है लेकिन एक मौका कभी नहीं हो सकती..!!
  14.  एक अच्छा दिमाग और एक अच्छा दिल का मेल, हमेशा बिजय का ही स्वाद देता है !!
  15.  जब आप किसी के गलतियों पर गुस्सा करते है तो आप सदैव अपने आप को ही सजा देते है...!
  16. दिल में आने का रास्ता तो होता है पर जाने का नही, इसलिए जब कोई दिल से जाता है तो दिल तोड़ कर ही जाता है ..!!
  17. सच्ची मोहब्बत जेल की तरह होती है, जिसमे उम्र बीत जाती है पर सजा पूरी नही होती..!!
  18.  महिलाएं उन पुरुषों को बेहद पसंद करती हैं, जो उन्हें रिसपेक्ट देते हैं..इसलिए आप सभी से नम्र निवेदन है स्त्री का सम्मान करे ...!!
  19. अंग्रेजी भाषा न जानने का जितना दुःख नही मुझे ,उससे कही ज्यादा हिन्दी भाषा जानने पर गर्व है, क्योंकि हिन्दी भाषा हमारी मातृभाषा है ..!! 
  20.  हमारे लिए दोस्त वही अनमोल होते है जिनके विचार सुन्दर होते है जैसे पत्थरों के ढेर में से सभी पत्थरे नही पूजे जाते है ..!
  21.  हमारे जीवन में होने वाले बिभिन्न क्रियाओ एवम घटनाओ से हम कुछ न कुछ सीखते रहते है इसलिए हम कह सकते है कि हमारा जीवन २४*७ चलने वाला पाठशाला है ..!
  22.  गलत लोगो के संगती से फर्क नही पड़ता, फर्क पड़ता है तो उनके गलत मानसिकता से ..!
  23.  हमारे जीवन में होने वाले बिभिन्न क्रियाओ एवम घटनाओ से हम कुछ न कुछ सीखते रहते है इसलिए हम कह सकते है कि हमारा जीवन २४*७ चलने वाला पाठशाला है ..!
  24.  यदि हमारा जीवन का डगर समस्याओ से अस्त-ब्यस्त है तो इस डगर को पार करने की देर है ..उसपार खुशियाँ आपना आँचल फैलाये इंतज़ार कर रही होती है ...!
  25.  मनुष्य साहसपूर्ण ढंग से किसी भी समस्या,दुःख का निदान कर सकता है ..!
  26.  परिस्थिति जब हमारे खिलाफ़ हो जाये तो हमे शांति और समझदारी से काम लेना चाहिए ..!
  27.  यदि कभी आपकी आशा निराशा में बदल गयी हो तो मायूश होने के बजाय पुन: मन में नये आशाएं जागृत करने की आवश्यकता है ...मन की इच्छाए और आशाएं कभी मरने नही चाहिए ..!
  28.  यदि किसी सामूहिक समस्या का हल चाहिए तो हमेशा सामने वालो को भी सोचने का समय दे !
  29.  उन सज्जनों और देविओं की उम्र और ओहदा सब बेकार है जिन्हने अपने अनुभव को अपने तक ही सिमित रखा है ...!
  30.  अच्छी बातें करने वाले को लोगो के सत्कार और झिझकार दोनों का सामना करना होता है, जहाँ सत्कार से आप ख़ुश होते है वही झिझकार से कभी मायूस न हो ..!
  31.  मै छोटे की भी इज्ज़त करती हूँ और बड़ो की भी मेरे लिए उनका उम्र नही चरित्र (ब्यवहार) मायने रखता है ..!
  32.  प्यार का सिला उस गुलाब के पौधे से सीखिए जो अपने जमीं पर रहते हुए नाज़ुक कलि को सराखो पर रखता है ....!
  33.  हमे एक उद्देश्य निर्धारित करके उसे प्राप्त करने की कोशिश करते रहना चाहिए !
  34.  गुलाब के जैसे हम इंसानों की पहचान होनी चाहिए जैसे गुलाब जमीन से उठाकर फिर जमीन पर आ गिरे तब भी गुलाब ही कहलाती है ...!
  35. किसी ब्यक्ति को जानने के लिए अधिक दिन की नही बल्कि एक दिल की जरूरत होती है ...!
  36.  खुद के मनोरंजन के लिए साधन हर समय, हर वक्त हमारे पास मौजूद है हमे उसे क्रियान्वित करने की जरूरत है ...!
  37.  अच्छाई-बुराई मनुष्य के बिकास के लिए एक महत्वपूर्ण कड़ी का कार्य करती है ..!
  38.  मन के गहराइयों में जो भी डूबेगा वो विचार रूपी बाल्टी में कुछ न कुछ शब्द बाहर ले आएगा ..!
  39.  इतना ही बोलिए जितना की सुनने वाले को बुरा न लगे ...!
  40.  कुछ खूबसूरत चीजो को देखा या छुआ नही जा सकता केवल महसूस किया जाता है ...!
  41.  दिल तो प्रत्येक ब्यक्ति के पास होता है लेकिन दिलदार कोई कोई ही होता है ...!
  42. दिल उनका बड़ा होता है जिनमे दया ,प्रेम एवं क्षमा का वास होता है ...!
  43. अपने मन में अच्छे विचारो को ही जगह दे आपके सम्मान और बिकास के लिए उपयोगी सिद्ध होगा ..!
  44. मन में बदले का भावना, अहंकार बश उत्पन्न होता है ...!
  45. दिल की हर बात को अपने जुबान पर जल्दी नही लानी चाहिए,
    लेकिन दिल की अच्छी और सच्ची बात जुबान पर लाने में देर भी नही लगानी चाहिए ...!
  46. ईश्वर भी उसी ब्यक्ति का सहायता करते है जो अपने कार्यो के प्रति प्रयत्नशील रहता है ...!
  47. घबराते वे लोग है जिनको अपने उपर तनिक भी विश्वास नही होता है ...!
  48. इन्सान स्वार्थ ,फ़रेब ,धोखा,लालच रूपी जमीन पर दोस्ती का मजबूत और टिकाऊ माकन नही बना सकता...!
  49.  मधुर वाणी बोलने वाले ब्यक्ति के आस पास कभी भी दरिद्रता नही भटकती ..!
  50. सहानुभूति केवल हौसलाअफजाई नही करता बल्कि आपसी प्रेम को भी बढ़ता है ...!
  51. जो ख़्वाब आँखों को पीड़ा देते हो उन्हें नही देखना चाहिए ...!
  52. ये दुनियाँ ख़ूबसूरत हमको तभी दिखेगी जब हमारा मन ख़ूबसूरत होगा ..!
  53. प्रत्येक ब्यक्ति का सोच अपने ही दिमाग की उपज होती है उपर हमारा कोई प्रतिबन्ध नही होता ...!
  54.  फ्रस्ट्रेशन एक बुद्धिजीवी मनुष्य को क्षण भर के लिए ही सही लेकिन बुद्धिहीन बना ही देता है ...!
  55.  उस ब्यक्ति की दोस्ती ज्यादा दिन नहीं टिक सकती, जिसका दिल शुद्ध व पवित्र नहीं है..!
  56.  मीठे व बुद्धिमानी से प्रयोग किये गये शब्द चुम्बक की तरह लोगो का ध्यान आकर्षित करते है..!
  57.  आशीर्वाद दिल से निकलते है मुख केवल पुष्टि करता है ,,!
  58.  गधे को कितना भी चना क्यू न खिला दो वो घोड़ा नही बनता....! 
  59.  इस संसार में चाहे कोई कितना भी सुखी क्यू न हो लेकिन मन सुखी नही होता...!
  60.  हम चाहे तो जिन्दगी के हर क्षेत्र में समझौता करने की सोच सकते है लेकिन चरित्र के क्षेत्र में कभी भूलकर भी सोचना नही चाहिए ...!
  61.  व्याकरण की तरह जीवन में भी यह होता है कि अपवादों की संख्या नियमों से भी अधिक बढ़ जाती है....!
  62.  जो ब्यक्ति हमेशा दुसरो के भलाई की बातें करता है उसके मित्र एक नही अनेक होते है ...!
  63.  दिमाग उस नदी व तालाब की तरह होती है जिधर जल का प्रवाह होगा उधर ही बहने लगेगी ...!
  64.  जिसमे हमारा नुकसान नही उसे दुसरे को देने से परहेज कभी नही करना चाहिए ...! जैसे ज्ञान 
  65. किसी प्रतिष्ठित पद से ज्यादा प्रभावशाली मनुष्य का अपना चरित्र होता है ....!
  66.  एक विवेकशील ब्यक्ति कई बाहुबलियों से ज्यादा वलवान होता है..!
  67.  एक इन्सान में अदब तभी तक बना रहता है जब तक उसके दिल में दुसरे के लिए इज्ज़त होती है ..!
  68.  अज्ञानी ,मूर्खो की दोस्ती स्वं को कष्ट देती है ...क्योकि उसमे किसी तथ्य को समझने और उचित बोलने की क्षमता नही होती ...!
  69.  आप किसी नतीजे पर पहुचे उससे पहले सामने वालो को इत्तिलाह कर उसे भी सोचने/सफाई देने का समय दे... !
  70.  जो मनुष्य देखता है उसी को सत्य समझ बैठता है परन्तु कभी कभी वह पूर्णतया सत्य नही होता ...!

1 टिप्पणी: