गुरुवार, 23 दिसंबर 2010

प्रधानमंत्री लाचार, पवार मजबूर


सरोज पांडेय
रायपुर.भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय मंत्री एवं सांसद सरोज पाण्डेय ने प्याज के बढ़ते दाम को लेकर केन्द्र सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि महंगाई बढ़ने के लिए कांग्रेस गठबंधन यूपीए सरकार ही जिम्मेदार है।

उन्होंने यूपीए सरकार की नीतियों को जनविरोधी नीति करार देते हुए महंगाई को गलत आर्थिक नीतियों का परिणाम बताया। दुर्भाग्य की बात है कि कोई कदम उठाने की बजाए हमारे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह लाचार और भविष्यवाणी करने वाले केन्द्रीय मंत्री शरद पवार मजबूर साबित हुए हैं।
सरोज पांडेय ने आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा कि यूपीए की अध्यक्षा होने के नाते श्रीमती सोनिया गांधी को भीषण महंगाई की बिल्कुल भी चिंता नहीं है। यह कांग्रेस गठबंधन सरकार का असली चेहरा है। खुद कांग्रेसी और उनके बड़बोले महासचिव राहुल गांधी महंगाई मुद्दा नहीं मानते हैं।
इन गलत नीतियों के परिणाम रूवरूप देश की आंतरिक स्थिति और भी खतरनाक हो सकती है। पेट्रोलियम पदार्थो से लेकर रसोई गैस के दाम अचानक बढ़ जाते हैं और देश की जनता को यह सब विवश होकर झेलना पड़ता है।
सामान्य उपयोग और खाने पीने की चीजों का लगातार महंगा होना वाकई शर्मनाक है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री का मूल्यवृद्धि और महंगाई को लेकर कोई नियंत्रण नहीं है, जिससे अचानक कभी भी देश का वातावरण बिगड़ जाता है। यह चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि अनियंत्रित यूपीए सरकार ने सत्ता में रहने क अधिकार बिल्कुल खो दिया है।
उन्होंने कहा कि वास्तव में कांग्रेस को आम आदमी की चिंता नहीं बल्कि भारतीय जनता पार्टी का डर समा गया है। बिहार चुनाव में राहुल गांधी नाकाम साबित हुए, जबरदस्त शिकस्त के बाद कांग्रेस को भाजपा के बढ़ते जनाधार का भय सता रहा है।
इसलिए उन्होंने अपने राष्ट्रीय अधिवेशन में सिर्फ और सिर्फ भारतीय जनता पार्टी को कोसने का काम किया है। एक ओर पूरे देश में महंगाई ने हाहाकार मचा दिया है और कांग्रेस सरकार हाथ पर हाथ रखकर बैठी है।

1 टिप्पणी: